अब शराब पीने वालों को नहीं करना होगा और इंतजार, क्यों जानने के लिए एक नजर खबर पर

देहरादून। नई आबकारी नीति के तहत उत्तराखंड में एक अप्रैल से अंग्रेजी और देशी शराब और महंगी हो जाएगी। शराब की कीमतों में 12 से 15 प्रतिशत बढ़ोतरी का अनुमान लगाया जा रहा है। इसके पीछे उत्पाद शुल्क में बढ़ोतरी को बड़ा कारण बताया जा रहा है। राज्य में स्थित देशी मदिरा की दुकानों में केवल ईएनए से निर्मित देसी मदिरा की आपूर्ति को अनुमति दी जाएगी।

कैबिनेट बैठक में बुधवार को मंजूर नई आबकारी नीति में कई परिवर्तन सामने आए हैं। आगामी वित्तीय वर्ष में 3,180 करोड़ का राजस्व निर्धारित किया गया है। इनमें से 2,135 करोड़ रुपये शराब की दुकानों के आवंटन से मिलेगा और अवशेष राजस्व अन्य मदाें से पूरा किया जाएगा। नई आबकारी नीति में देसी और अंग्रेजी शराब के उत्पाद शुल्क में वृद्धि की गई है।
देसी मंदिरा पर 25 रुपये प्रति एएल की दर और विदेशी मदिरा पर पिछले साल के मुकाबले 15 प्रतिशत उत्पाद शुल्क में वृद्धि की गई है। उत्पाद शुल्क बढ़ने से प्रदेश में शराब का महंगा होना स्वाभविक है। हालांकि आबकारी विभाग शराब की कीमत बढ़ने को लेकर अभी कुछ भी बोलने को तैयार नहीं है।
इस साल किस दिन मनाई जा रही है बसंत पंचमी, जानने के लिए पढ़ें पूरी खबर
निगम क्षेत्र में 11 बजे तक खुलेंगे ठेके
नई व्यवस्था में नगर निगम क्षेत्र में अब शराब की दुकानें रात 11 बजे तक खुला करेंगी। अब तक रात 10 बजे तक ठेके खोलने की अनुमति है। नई आबकारी नीति में शराब और बीयर की उन्हीं दुकानों का 20 प्रतिशत अधिभार बढ़ोतरी पर नवीनीकरण किया जाएगा, जिनके द्वारा निर्धारित संपूर्ण राजस्व दिया गया है।
अब B.Ed पढ़ने के लिए भी छात्रों को करनी पड़ेगी कड़ी मशक्कत- प्रकाश जावड़ेकर
समस्याओं के निस्तारण को समिति गठित
आबकारी नीति के क्रियान्वयन में आने वाली समस्याओं के निस्तारण लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक समिति गठित की गई है। इस समिति में प्रमुख सचिव वित्त, प्रमुख सचिव न्याय, प्रमुख सचिव आबकारी नामित सदस्य रहेंगे।
The post अब शराब पीने वालों को नहीं करना होगा और इंतजार, क्यों जानने के लिए एक नजर खबर पर appeared first on Live Today | Hindi TV News Channel.

loading...