इस नवरात्रि घर में बनाएं कुछ स्पेशल रेसिपि, जो रखें आपकी सेहत का ख्याल

नवरात्रि के पर्व का सभी को बेसब्री से इतंजार रहता है यह वो समय होता है जब जगह-जगह देवी दुर्गा के पंडाल सजे हुए देखने को मिलते हैं. साथ ही देवी दुर्गा की मूर्तियों को कुमकुम, चूड़ियों, वस्त्रों और आभूषणों से सजाया जाता है. नवरात्रि  की हर सुबह होने वाली प्रार्थना और मंदिरों में बजने वाली घंटियों की आवाज से मन प्रफुल्लित हो उठता है. नवरात्रि  हिन्दुओं का बहुत बड़ा त्योहार है जिसे साल में दो बार बड़े ही उत्साह के साथ मनाया जाता है. भक्त इन दिनों देवी दुर्गा के नौ अवतारों की पूजा करते हैं. माना जाता है कि देवी दुर्गा के अलग-अलग अवतार हैं और हर अवतार अलग शक्ति का प्रतीक है. नवरात्रि के दिनों को बहुत ही शुभ माना जाता है और इस दौरान मां दुर्गा के भक्त पूजा करने के साथ उपवास भी करते हैं. अधिकांश लोग नवरात्रि के दौरान मांसाहरी भोजन छोड़ देते हैं, इतना ही नहीं प्याज और लहसुन का सेवन भी नहीं करते.।

आमतौर पर उत्तर, पश्चिम और मध्य भारत में लोग नवरात्रि के पूरे नौ दिन व्रत करते हैं. कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो सिर्फ पहले और अंतिम दिन उपवास करते हैं. उपवास के जरिए भक्त देवी के प्रति आभार प्रकट करते हैं और प्रार्थना करते हैं कि देवी की कृपा सदैव उन पर बनी रहें. परंपरागत रूप से, शराब और मांसाहारी भोजन के सेवन को अशुभ और अपवित्र माना जाता है लेकिन इसके वैज्ञानिक तथ्य भी हैं. व्रत के दौरान लोग मांस, अनाज, शराब, प्याज और लहसुन भी नहीं खाते. आयुर्वेदिक नजरिए के अनुसार ये खाद्य पदार्थ नकारात्मक ऊर्जा को आकर्षित और अवशोषित करते हैं और बदलते मौसम में हमारे शरीर की प्रतिरक्षा इम्यूनिटी कम होने लगती है इसलिए ऐसी चीजों का सेवन करने से बचना चाहिए।
इस लॉकडाउन के बीच बिग बी ने की सोशल मीडिया के माध्यम से पुलिस अधिकारियों से की ये मांग…
नवरात्रि के पर्व में अपने इम्युन सिस्टम को मजबूत करने का मौका मिलता है. कुट्टू का आटा, सिघांटे का आटा, ताजी सब्जियां, दूध, दही और मखाने जैसी चीजों को प्राथमिकता दी जाती है क्योंकि इनको खाने पेट हल्का रहता है और ये चीजें आसानी से पच भी जाती हैं. इसके अलावा खाने में साधारण नमक के बजाय सेंधा नमक का इस्तेमाल किया जाता है. वहीं दूसरी तरफ जो लोग व्रत नहीं करना चाहते वो शाकाहारी सात्विक भोजन का सेवन करें. लहसुन और प्याज़ जैसी चीजों से शरीर में गर्मी उत्पन्न होती है इसलिए अपने शरीर को डिटॉक्स करने के लिए इन चीजों का सेवन न करें. यहां हम आपको नवरात्रि  के दौरान बनाई जाने वाली कुछ बेहतरीन व्रत रेसिपीज़ बताने जा रहे हैं जिनके स्वाद का लुत्फ आप इस बार नव​रात्रि में लें सकते हैं।
साबूदाना खिचड़ी
साबूदाना  एक ऐसी सामग्री है जिसे व्रत के दौरान खूब खाया जाता है. साबुदाना खिचड़ी नवरात्रि व्रत रेसिपी में सबसे ज्यादा पसंद की जाती. इसमें स्टार्च और कार्बोहाइड की अच्छी मात्रा होती है, जो आपका पेट लंबे समय तक भरा रखती है. हल्के मसालों में तैयार की गई साबूदाना खिचड़ी नवरात्रि में बड़े चाव से खाई जाती है. साबूदाना खिचड़ी में मूंगफली और हरे धनिये का इस्तेमाल भी किया जाता है.
साबूदाना खीर
नवरात्रि के पर्व के दौरान अगर आपका मन कुछ मीठा खाने का करें तो आप मसालेदार साबूदाना खिचड़ी की जगह साबूदाना खीर भी बना सकते हैं. नवरात्रि के अवसर के लिए साबूदाना खीर एक क्लासिक डिश है. इलाइची, केसर और क्रंची ड्राई फ्रूट्स खीर के स्वाद को और भी बढ़ा देते हैं।
व्रतवाले चावल का ढोकला
व्रत के दौरान खाने के लिए बेहद कम आॅप्शन होते हैं लेकिन आज हम आपको व्रतवाले चावल का ढोकला बनाने की विधि बताने जा रहे हैं. खमीर उठा ढोकला जो साम्वत के चावल (स्पेशल चावल, जो नवरात्र के समय खाने में उपयोग में लाया जाता है) से तैयार किया जाता है. जिसे साबुत लाल मिर्च, जीरा, घी और कढ़ी पत्ता का तड़का दिया जाता है
 
अरबी कोफ्ता
अरबी कोफ्ता नवरात्रि के लिए पर पर्फेक्ट स्नैक है. इसे कुट्टू के आटे के साथ मिलाकर तैयार किया जाता है और मिंट-योगर्ट डिप के साथ सर्व किया जाता है. इस बार नवरात्रि में अरबी कोफ्ता और मिंट योगर्ट डिप को ट्राई कर सकते हैं.
कुट्टू के आटे की पूरी
आलू की सब्जी के साथ अगर कुट्टू के आटे की पूरी मिल जाए तो खाने का स्वाद दोगुना हो जाता है. इसके अलावा आप इन पूरियों को दही के साथ भी खा सकते हैं. कुट्टू के आटे का सेवन करने से आपका एनर्जी लेवल बढ़ जाता है.
कुट्टू  का डोसा
तो चलिए यह तो बात हुई कुट्टू की पूरी की लेकिन क्या आप जानते हैं कुट्टू के आटे से स्वादिष्ट डोसा भी बनाया जा सकता है. कुट्टू के आटे में अरबी को मिलाकर और इसके बीच में आलू की फीलिंग भरी जाती है. कुट्टू के डोसे को आप आलू की सब्जी या चटनी के साथ भी खा सकते हैं
व्रतवाले दही आलू. 
आलू एक ऐसी सब्जी है जिसे नवरात्रि व्रत के दौरान खाया जाता है. आलू से कई तरह की डिश बनाई जा सकती हैं. व्रत के दौरान आपने आलू की सब्जी तो कई बार खाई होगी। मगर इस बार आप जब भी व्रत रखे तो दही में बनी आलू की यह सब्जी जरूर ट्राई करें. इस सब्जी में उबले हुए आलू को दही की गाढ़ी ग्रेवी में डालकर तैयार किया जाता है. आप चाहे तो आलू रसेदार व्रतवाले भी बना सकते हैं.
आलू की कढ़ी
अगर आप व्रत के दौरान आलू की सब्जी नहीं खाना चाहते तो यहां हम आपको एक बेहतरीन विकल्प बताने जा रहे हैं. आलू की सब्जी की जगह आप आलू की कढ़ी भी बना सकते हैं. इसे बनाना बेहद ही आसान है.
खीरे के पकौड़ी
नवरात्रि के दौरान खाने के लिए काफी कम आॅप्शन होते है उस समय के लिए एक बेहतरीन विकल्प है. सिंघाड़े के आटे में खीरे को मिक्स करके आप कुरकुरी पकौड़ी तैयार कर सकते हैं. इसे आप पुदीने की चटनी के साथ भी सर्व कर सकते हैं.
सिंघाड़ें का समोसा
समोसा चाय के साथ पसंद किए जाने वाला स्नैक है लेकिन व्रत के दौरान समोसा नहीं खाया जा सकता है मगर हम आपकी इस मुश्किल को थोड़ा आसान कर देते हैं. व्रत के दौरान खाने के बेहद कम आॅप्शन होते हैं लेकिन सिंघाड़े के आटे और चिरौंजी से तैयार होने वाला यह स्वादिष्ट समोसा आप इस बार नवरात्रि ट्राई कर सकते हैं.
The post इस नवरात्रि घर में बनाएं कुछ स्पेशल रेसिपि, जो रखें आपकी सेहत का ख्याल appeared first on Live Today | Hindi TV News Channel.

loading...