एक नामी कंपनी के सुपरवाइजर ने किया ये काम, संस्था पर उठे सवाल…

उत्तराखंड में रुद्रपुर के सिडकुल की कंपनियों में लेबर सप्लाई करने वाले सुपरवाइजर को जब एक कंपनी ने लेबर सप्लाई करने के 60 हजार रुपये का भुगतान नहीं किया तो उसने कंपनी के बाहर ही खुद पर आग लगाकर आत्मदाह की कोशिश की। गंभीर रूप से झुलसे सुपरवाइजर को जिला अस्पताल से हल्द्वानी रेफर किया गया है। सिडकुल चौकी पुलिस जांच में जुटी है।

जानकारी के अनुसार घासमंडी रुद्रपुर निवासी व्यक्ति सिडकुल की कंपनियों में लेबर सप्लाई करता है। पुलिस के अनुसार दीपावली के समय सेक्टर 11 स्थित एक कंपनी में भी उसने लेबर सप्लाई की थी, जिसका कंपनी ने चार माह बाद भी उसे 60 हजार का भुगतान नहीं किया।
बताया कि मंगलवार दोपहर को वह कंपनी के बाहर पहुंचा और प्रबंधन के खिलाफ शोर मचाने लगा। काफी देर बाद भी कंपनी प्रबंधन ने उसकी सुध नहीं ली तो उसने खुद पर पेट्रोल डाला और माचिस से आग लगा ली।
आग की लपटों में घिरने के बाद जब वह सड़क पर दौड़ने लगा तो वहां मौजूद लोगों में हड़कंप मच गया। स्थानीय लोगों ने आग की लपटें बुझाकर उसे जिला अस्पताल पहुंचाया। तब तक वह 60 प्रतिशत तक झुलस गया था।
देवभूमि में भाजपा के ये दो दिग्गज नेता हो सकते हैं स्टार प्रचार, आज होगी चर्चा
हालत गंभीर होने पर डाक्टरों ने सुपरवाइजर को हायर सेंटर रेफर कर दिया। सिडकुल चौकी प्रभारी केजी मठपाल के अनुसार लेनदेन के विवाद में उसने कंपनी के बाहर खुद पर आग लगाकर आत्मदाह का प्रयास किया। हल्द्वानी में उसका उपचार चलने के कारण अभी तहरीर नहीं मिली है। मामले की जांच की जा रही है।
सीजन के अनुसार घटती बढ़ती है मजदूरी
सिडकुल में सीजन के अनुसार श्रमिकों की मजदूरी घटती बढ़ती है। सुपरवाइजर ने कंपनी प्रबंधन को दीपावली के समय श्रमिक उपलब्ध कराए थे और त्योहार के समय श्रमिक अन्य सीजन की अपेक्षा अधिक भुगतान मांगते हैं। इसके चलते उसने भी तय मजदूरी से कुछ अधिक में कंपनी को लेबर सप्लाई की थी लेकिन कंपनी प्रबंधन ने उसे सीजन के अनुरूप भुगतान नहीं किया।
 
The post एक नामी कंपनी के सुपरवाइजर ने किया ये काम, संस्था पर उठे सवाल… appeared first on Live Today | Hindi TV News Channel.

loading...