कोरोना वायरस से भी खतरनाक इस बीमारी ने ली थी नाचते हुए लोगों की जान, आज भी है बड़ा रहस्य!

इस वक्त पूरी दुनिया में कोरोना वायरस ने दहशत फैला रखी है. इसकी चपेट में आने वाला बहुत मुश्किलों से बच पाता है. लोग तो यही प्रार्थना कर रहे हैं कि वो इसकी चपेट में आने से बचे रहें. कितनों की अबतक इस वायरस की वजह से मौत हो चुकी है. इससे बचने के लिए लोगों ने अपने घरों से बाहर निकलना छोड़ दिया है. इसका नाम भर सुन लेने से शरीर में कपकपी दौड़ जाती है. भारत में हालात ये है कि 555 लोग संक्रमित पाए गए हैं जबकि 10 लोगों ने अपनी जान गंवाई है. लेकिन आज हम आपको एक ऐसी बिमारी के बारे में बताने जा रहे हैं जो इस वायरस से भी खतरनाक थी. जिससे लगभग 400 से भी ज्यादा लोगों ने अपनी जान गंवाई थी.

यह बीमारी एक रहस्यमय बीमारी थी जिसका आज तक पता भी नहीं चल पाया. जिस किसी को भी यह बीमारी होती थी वह नाचने लगता था. बीमार शख्स तबतक डांस करता रहता था, जबतक कि उसकी जान नहीं निकल जाती थी. इस रहस्यमय बीमारी का पता आज भी वैज्ञानिक नहीं लगा पाए हैं. इस बीमारी के बारे में अभी तक कोई ऑफिशियल रिकॉर्ड तो नहीं है लेकिन इसके बारे में बताया जाता है कि यह बीमारी तकरीबन 16वीं शताब्दी के दौरान आई थी जिसे ‘डांसिंग प्लेग’ के नाम से जाना गया था. यह एक ऐसा डांस था जिसमें रोगी लगातार नाचता ही रहता था और वह तब तक खुद को नहीं रोक पाता था जबतक कि उसकी जान न निकल जाए.
अपने जीवनसाथी के साथ रिश्तों को सुधारने के लिए जरुरी है कपल काउंसलिंग, ये हैं 5 फ़ायदे…

ये था डांसिंग प्लेग
यह एक ऐसा डांस था जिसे एक महिला ने शुरू किया था. यह महिला इतना मंत्रमुग्ध होकर डांस कर रही थी कि जो इसे देखता था वो भी इसके साथ नाचने लगता था. देखते ही देखते इस कतार में एक से बढ़कर कई लोग शामिल होने लगे, यह डांसिंग धीरे-धीरे एक भीड़ में तब्दील हो गई और ये लोग तबतक डांस करते रहे जब तक इन लोगों की जान नहीं निकल गई थी. घटना के मुताबिक एक दिन अचानक ही स्ट्रासबर्ग में रहने वाली सामान्य सी औरत ‘फ्राउ ट्रॉफी’ अपने घर से नाचते हुए बाहर आंगन में आ गई. हालांकि वहां पर आस-पास  संगीत की कोई धुन नहीं बज रही थी, लेकिन फ्राउ ट्रॉफी अपनी ही धुन में मग्न थी और लगातार डांस किए जा रही थी.
मरते दम तक डांस करते रहे लोग
आपको बता दें कि डांस करने के दौरान ये लोग इतना ज्यादा लीन हो गए गए थे कि उन्हें इस बात की फिकर ही नहीं थी कि वो क्या कर रहे हैं और क्यों कर रहे हैं उन्हें और कुछ भी नहीं दिखाई दे रहा था. सुनने में लोगों को अजीब भले ही लग रहा हो लेकिन यह सच्चाई है कि लगभग 400 से भी ज्यादा लोग इस ग्रुप डांस में शामिल हुए और ये लोग तब तक डांस करते रहे जबतक कि उनकी जान नहीं निकल गई थी.

The post कोरोना वायरस से भी खतरनाक इस बीमारी ने ली थी नाचते हुए लोगों की जान, आज भी है बड़ा रहस्य! appeared first on Live Today | Hindi TV News Channel.

loading...