चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर को लेकर ये है NASA की ‘ओपन इंफोर्मेशन’

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन(ISRO)  की ओर से विक्रम लैंडर से संपर्क साधने की हर कोशिश की जा रही है. चांद पर सॉफ्ट लैंडिंग से 2 किमी पहले मिशन का कंट्रोल टूट गया. ISRO की ओर से अभी तक कोई भी जानकारी नहीं दी गई हैं.

अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ‘नेशनल एयरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन’ (NASA) के डीप स्पेस नेटवर्क (DSN) का ओपन प्लेटफॉर्म दिखा रहा है कि किस तरह अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में स्थित NASA की वेधशालाएं (observatories) चंद्रयान-2 के लैंडर और ऑर्बिटर से संचार कायम करने की कोशिश कर रही हैं.
DSN का प्रबंधन कैलिफोर्निया इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (CalTech) की जेट प्रोपल्शन लैबोरेट्री (JPL) की ओर से किया जाता है. DSN की ओर से वेधशाला और स्पेसक्राफ्ट के बीच लाइव अप-लिंक और डाउन-लिंक दिखाया जा रहा है.
पहली बार सांसद बनी नुसरत जहां और प्रज्ञा ठाकुर को मोदी सरकार ने दी ये जिम्मेदारी
तारीख- 11 सितंबर
जगह- गोल्डस्टोन ऑब्ज़र्वेटरी, यूएसए
वक्त- दोपहर 1 बजे से शाम 5 बजे तक
DSN ने पहले कैलिफोर्निया के निकट मोजावे रेगिस्तान में स्थित गोल्डस्टोन ऑब्ज़र्वेटरी और चंद्रयान के ऑर्बिटर और लैंडर से संपर्क की कोशिशों को दिखाया. नेटवर्क की ओर से ऑर्बिटर को कूट नाम ‘CH2O’ और लैंडर को ‘CH2L’  दिया गया है. प्रारंभिक चरण दिखाता है कि ऑब्ज़र्वेटरी और विक्रम लैंडर के बीच अप-लिंक संचार की कोशिश की गई.
 
The post चंद्रयान-2 के विक्रम लैंडर को लेकर ये है NASA की ‘ओपन इंफोर्मेशन’ appeared first on Live Today | Hindi TV News Channel.

loading...