जानें खूबसूरत, साफ और सबसे कम प्रदूषित शहरों के बारे में, जहां आपकी जिंदगी बन जाएगी खुशनुमा

पूरी दुनिया में बढ़ते हुए प्रदूषण की बात हो रही है. लेकिन विश्व में कई ऐसे शहर हैं जिन्होंने विकास के नाम पर पर्यावरण और लोगों की सेहत के साथ समझौता नहीं किया. सख्त नियम बनाए. पब्लिक ट्रांसपोर्ट, साइक्लिंग और गैर-पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों को बढ़ावा दिया. नतीजा ये है कि इन शहरों में आप बिना किसी बीमारी के लंबा जीवन जी सकते हैं. आइए जानते हैं इन 10 खूबसूरत, साफ और सबसे कम प्रदूषित शहरों के बारे में…

रेकजाविक, आइसलैंड
रेकजाविक के हवा की गुणवत्ता 87.50 है. यानी शुद्धता के नजदीक. दुनिया के सबसे साफ शहरों में एक रेकजाविक में प्रदूषण एकदम नहीं है.
कारणः आर्कटिक की ठंडी हवाओं के बीच यहां के लोग गैर-पारंपरिक ऊर्जा स्रोतों जैसे जियोथर्मल एनर्जी का ज्यादा उपयोग करते हैं. इसी से शहर के 90% बिजली और गर्मी प्रदान करने वाला सिस्टम चलता है.
2 से अधिक अंडा खाने वाले रहें सावधान, नही तो हो सकती है मौत
ज्यूरिख, स्विट्जरलैंड
नए शादीशुदा जोड़ों की पहली पसंद ज्यूरिख भी आपके फेफड़ों से दोस्ताना व्यवहार रखता है. यह शहर भी दुनिया के सबसे कम प्रदूषित शहरों में शामिल है.
कारणः करीब 4 लाख लोगों वाले इस शहर में इको-फ्रेंडली पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम, तेजी से बढ़ता सिर्फ साइकिल चलाने का नियम, रिन्यूएबल एनर्जी पर ज्यादा काम इसे प्रदूषण मुक्त रखता है.
हेलसिंकी, फिनलैंड
दुनिया में सबसे साफ हवा वाली जगहों में से एक. प्रदूषण पूरी दुनिया में यहां सबसे कम है. इसे दुनिया का साइक्लिंग के लिए सबसे उपयुक्त माना है.
कारणः हेलसिंकी में लोग चार पहिया के बजाय साइकिल का उपयोग ज्यादा करते हैं. हेलसिंकी शहर में करीब 3868 किमी लंबी साइकिल लेन है. कारों की संख्या कम करते जा रहे हैं.
वेलिंग्टन, न्यूजीलैंड
दुनिया के सबसे साफ हवा वाले शहरों और राजधानी की सूची में शामिल है. यहां भी प्रदूषण नहीं है. यहां के लोग दुनिया में सबसे स्वस्थ माने जाते हैं.
कारणः शहर की कम आबादी और प्राकृतिक बनावट उसे साफ रखने में मदद करती है. स्थानीय लोग खुद सफाई करने में नहीं हिचकते. जहां गंदगी दिखती है, उसे तत्काल साफ कर देते हैं.
मोदी की कैबिनेट बैठक में होंगे अहम फैसले, इस 10 मुद्दों पर होगी विशेष चर्चा
हैमबर्ग, जर्मनी
हरित ऊर्जा के मामले में जर्मनी दुनिया का अग्रणी देश माना जाता है. हैमबर्ग, जर्मनी का दूसरा सबसे बड़ा शहर है. हैमबर्ग हानिकारक उत्सर्जन करने वाले सभी माध्यमों को 2050 तक 80% कम करने पर जुटा है.
कारणः शहर में ग्रीन नेटवर्क बनाया जा रहा है, जिससे लोगों को हैमबर्ग में कारों का उपयोग नहीं करना पड़ेगा. इससे CO2 उत्सर्जन में भारी कमी आएगी.
कोपेनहेगन, डेनमार्क
डेनमार्क की राजधानी कोपेनहेगन को दुनिया में सबसे उपयुक्त पर्यावरण वाला शहर माना जाता है. इसे दुनिया की सबसे अच्छी ग्रीन इकोनॉमी वाले शहरों में भी गिना जाता है.
कारणः सीवेज ट्रीटमेंट में कोपेनहेगन ने काम करके पूरे शहर के पानी के साफ कर दिया है. यहीं पर पूरी दुनिया में पर्यावरण को साफ रखने की अंतरराष्ट्रीय बैठकें होती हैं.
शिकागो, अमेरिका
अमेरिका के तीसरा सबसे बड़ा शहर. सफाई और इको-फ्रेंडली व्यवहार के लिए दुनिया में मशहूर है शिकागो.
कारणः शिकागो में 20 लाख वर्ग फीट पौधारोपण सिर्फ शहर की छतों पर किया है. रूफटॉप गार्डन सबसे ज्यादा यहीं हैं. लोग पब्लिक ट्रांसपोर्ट का सबसे ज्यादा उपयोग करते हैं.
लग्जमबर्ग सिटी, लग्जमबर्ग
इसे यूरोप का ग्रीन हार्ट कहते हैं. पूरी दुनिया में अपने ऐतिहासिक किलों और हरे-भरे जंगलों के लिए विख्यात.
कारणः यहां पेड़ों और जंगलों को काटने पर कड़ी सजा है. लोग खुद साइकिल और पब्लिक ट्रांसपोर्ट का सबसे ज्यादा उपयोग करते हैं.
व्हाइटहॉर्स, कनाडा
दुनिया के सबसे कम प्रदूषण वाले सबसे ज्यादा शहर कनाडा में ही हैं. विक्टोरिया, ओटावा, वैंकूवर, मिसिसॉउगा आदि. पर इनमें से भी व्हाइटहॉर्स सबसे कम प्रदूषित है.
कारणः कचरा प्रबंधन में यह शहर माहिर है. इनके कैंपेन – टू गुड टू वेस्ट ने कचरे में भारी कमी लाई है. कम्पोस्ट और रिसाइकिल यूनिट्स से कचरा साफ होता रहता है.
जलवायु परिवर्तन और वैश्विक ताप की वजह से बढ़ा डेंगू का खतरा, 600 करोड़ से अधिक लोग होंगे शिकार
होनोलुलू, हवाई
अमेरिका में सबसे ज्यादा साफ हवा इसी शहर की है. इस बात को अमेरिकन लंग एसोसिएशन भी प्रमाणित करती है.
कारणः सालभर होने वाली हल्की-हल्की बारिश से हवा को प्रदूषित करने वाले कण समुद्र में चले जाते हैं. यहां के लोग सेहतमंद जीवनशैली जीते हैं. हवाई में लोगों को दिल के दौरे कम आते हैं.

The post जानें खूबसूरत, साफ और सबसे कम प्रदूषित शहरों के बारे में, जहां आपकी जिंदगी बन जाएगी खुशनुमा appeared first on Live Today | Hindi TV News Channel.

loading...