प्राथमिक विद्यालय की बड़ी लापरवाही, स्कूल परिषर में फेंक दी कीड़े मारने की दवाई, बच्चों उठाकर खाई फिर…

Report – Ravi Pandey
सोनभद्र- सरकार लगातार प्रयास कर परिषदीय विद्यालयों में शैक्षणिक व्यवस्था और उसमें पढ़ने वाले बच्चों के सुदृढ़ विकास के लिए तमाम योजनाएं संचालित कर रही हैं ,लेकिन इन योजनाओं का लाभ कितना बच्चों को मिल रहा है ,इसका जीता- जागता उदाहरण जनपद सोनभद्र के राबर्ट्सगंज ब्लॉक क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय बहुआरा इंग्लिश मीडियम स्कूल रावर्टसगंज सोनभद्र में देखने को मिला।

जहां पर स्कूल प्रांगण में आयरनऔर कीड़ी मारने की गोलियां जो बच्चों को खाने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा दी गई थी, उसे फेंक दिया गया था, जिसे बच्चे उठा कर खा लिए। जिसके कारण वह बीमार हो गए। बच्चों को बीमार होने पर परिजन परेशान हो गए, परिजनों द्वारा स्थानीय स्तर पर डाक्टरों से इलाज कराने के बाद बच्चों की स्थिति में सुधार हो रहा है।
सोन कायाकल्प मिशन के तहत सूबे के मुखिया योगी आदित्यनाथ विगत दिनों जनपद सोनभद्र के प्राथमिक विद्यालय बहुआरा इंग्लिश मीडियम स्कूल रावर्टसगंज सोनभद्र पर गए और वहां के बच्चों से मिलकर खुशी जताते हुए उनके सर्वांगीण विकास के लिए तमाम योजनाएं संचालित करने की बात कहा, लेकिन प्राथमिक विद्यालय के अध्यापकों द्वारा उन बातों को जाते ही दरकिनार करते हुए लापरवाही बरतने का मामला प्रकाश में आया है।
दरअसल प्रत्येक परिषदीय विद्यालयों पर स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर बच्चों की जांच किया जाता है ,साथ ही बच्चों को खाने के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा आयरन की गोलियां ,कीड़ी मारने की दवा के साथ-साथ अन्य दवा दी जाती हैं जिसके लिए विधिवत प्रशिक्षण भी दिया जाता है ,लेकिन इन दवाओं को बच्चों को खिलाने के बजाय परिषदीय अध्यापकों द्वारा विद्यालय के प्रांगण में फेंक दिया गया ।जिसे बुधवार शाम को आधा दर्जन बच्चे खा लिए।
जिसके बाद बच्चों को पूरी रात उल्टी और दस्त होती रही । परिजनों द्वारा स्थानीय डाक्टरों से दवाई इलाज कराया गया ,जिसके बाद अब बच्चों में सुधार आ रहा है ।दवा खाने वाले बच्चों ने बताया कि विद्यालय प्रांगण में दवा फेंकी गई थी, जिसको खाने के बाद तबीयत बिगड़ गई ।इसकी शिकायत जब अध्यापक से की गई तो अध्यापक द्वारा पिटाई किया गया ।
वहीं अविभावकों ने बताया कि विद्यालय प्रांगण में दवा फेंकी गई थी ,जिसको खाने के बाद आधा दर्जन बच्चे बीमार हो गए, पूरी रात उल्टी दस्त होती रही। स्थानीय स्तर पर डॉक्टरों से दवा इलाज कराने के बाद, अब बच्चों की स्थिति में सुधार हो रहा है।
शर्मशार ! 6 साल की बच्ची के साथ नाबालिग भाइयों ने किया बलात्कार , की दर्दनाक हत्या…
इस मामले पर खण्ड शिक्षाधिकारी ने कहा कि सफाईकर्मी द्वारा कूड़ा शौचालय के पास इकठ्ठा किया गया था जिसमे आयरन की दवाएं थी जिसे कुछ बच्चो ने खा लिया था। विद्यालय में रखी दवाओं का मिलान किया गया जो पूरी है। स्कूल के बगल में आम रास्ता और स्वास्थ्य केन्द्र भी है, इसकी जांच कराई जा रही है कि दवा कहाँ से आई है । जो बच्चे दवा खाये थे उनकी तबियत बिल्कुल सही है।
The post प्राथमिक विद्यालय की बड़ी लापरवाही, स्कूल परिषर में फेंक दी कीड़े मारने की दवाई, बच्चों उठाकर खाई फिर… appeared first on Live Today | Hindi TV News Channel.

loading...